मेरा प्रिय खेल पर निबंध

नमस्कार दोस्तों क्या आप Mera Priya Khel Eassy की खोज कररहे है तो आप सही जगह है। इस Mera Priya Khel Eassy In Hindi लेख में हम पूरा निबंध प्रदान किया है।

इंसान के लिए खेल खेलना बहुत जरूरी है। यह आदमी को फिट रखता है। इतना ही नहीं यह उसे बीमारियों से भी दूर रखता है। किसी व्यक्ति के लिए कुछ शारीरिक शौक होना जरूरी है। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि कई पोषण विशेषज्ञ और डॉक्टर इसकी सलाह देते हैं। तो चलो Mera Priya Khel Eassy के बारेमे जानते है।

मेरा प्रिया खेल पर लघु निबंध | Short Essay on Mera Priya Khel In Hindi

खेल आवश्यक हैं क्योंकि वे शरीर और दिमाग को विकसित और विकसित करने में मदद करते हैं, चाहे वह शैक्षिक वातावरण में हो या घर पर। खेल खेलने से मुझे हमेशा सक्रिय, ऊर्जावान और स्वस्थ रहने में मदद मिली है।

यह मेरे दैनिक जीवन का एक अनिवार्य हिस्सा है। मुझे बहुत सारे आउटडोर के साथ-साथ इनडोर खेल खेलना पसंद है। बैडमिंटन मेरा पसंदीदा खेल है क्योंकि यह मुझे पूरे दिन सक्रिय रहने में मदद करता है।

बैडमिंटन खेलने के लिए गति, ताकत और सटीकता की आवश्यकता होती है। बैडमिंटन खेलने से मुझे सक्रिय और ऊर्जावान बनने में मदद मिलती है। इस खेल में एक अच्छा खिलाड़ी बनने के लिए काफी अभ्यास और कड़ी मेहनत की जरूरत होती है।

मेरा पहला बैडमिंटन मैच तब था जब मैं 12 साल का था। मुझे इस खेल को सीखने के लिए स्टेडियम ले जाया गया और तब से यह मेरा पसंदीदा खेल बन गया है।

मैं बाहर जाने या वीडियो गेम खेलने के बजाय इसे खेलने का प्रयास करता हूं। बैडमिंटन खेलते समय हमें दो रैकेट और एक शटलकॉक की आवश्यकता होती है।

शटलकॉक एक गेंद की तरह काम करता है, जो कॉर्क के एक छोटे से टुकड़े से जुड़े पंखों से बनी होती है। दूसरी ओर, बैडमिंटन रैकेट वजन में हल्के होते हैं। बैडमिंटन टेनिस की तरह है; फर्क सिर्फ इतना है कि जाल ऊंचा है और गेंद हल्की है।

ये भी पढ़ेEssay on Rising Oil Prices in Hindi

मेरा प्रिया खेल पर लंबा निबंध | Long Essay on Mera Priya Khel In Hindi

परिचय

खेल खेलना प्रत्येक मनुष्य के लिए एक महत्वपूर्ण गतिविधि है। यह लाभ रखता है। साथ ही यह लोगों को तमाम बीमारियों से दूर रखता है। शारीरिक शौक रखना हर व्यक्ति के लिए जरूरी है।

सबसे महत्वपूर्ण बात, बहुत सारे पोषण विशेषज्ञ और डॉक्टर इसका सुझाव देते हैं। कुछ दिलचस्प खेल क्रिकेट, बास्केटबॉल, फुटबॉल, टेनिस, बैडमिंटन आदि हैं। मेरा निजी पसंदीदा खेल फुटबॉल है।

मेरा पसंदीदा खेल – (फुटबॉल)

जब मैं बच्चा था तो मुझे भी क्रिकेट पसंद था लेकिन उसमें कभी अच्छा नहीं था। इसलिए मैंने अपने शौक को फुटबॉल में बदल लिया। फुटबॉल मेरे लिए कक्षा 3 में नया था। मैं शुरुआत में अच्छा नहीं खेल पाया।

लेकिन मुझे खेल बहुत पसंद आया। तो मैंने इसका अभ्यास करना शुरू कर दिया। नतीजतन, मैंने इसे अच्छा खेलना शुरू किया। कक्षा 4 में मैं अपनी कक्षा फ़ुटबॉल टीम का कप्तान बना।

उस समय मैं कप्तान बनने के लिए बहुत उत्साहित था। समय के साथ फुटबॉल के बारे में काफी कुछ सीखने को मिला। फुटबॉल में कुल 22 खिलाड़ी खेलते हैं। खिलाड़ियों का विभाजन दो टीमों में होता है। प्रत्येक टीम में 11 खिलाड़ी होते हैं।

इन खिलाड़ियों को केवल पैरों से गेंद से खेलना होता है। उन्हें दूसरी टीमों के गोल पोस्ट में गेंद को किक करना होता है। फुटबॉल क्रिकेट की तरह नहीं है। फुटबॉल में मौसम कोई समस्या नहीं है। जिससे खिलाड़ी इसे पूरे साल खेल सकते हैं।

फुटबॉल के अलावा सहनशक्ति का खेल है। खिलाड़ियों को पूरे खेल के लिए मैदान पर दौड़ना होता है। वो भी 90 मिनट के लिए। चूंकि 90 मिनट बहुत होते हैं इसलिए समय में विभाजन होता है। दो पड़ाव हैं। पहला 45 मिनट के लिए है। इसी तरह सेकेंड हाफ भी 45 मिनट का है।

फुटबॉल का मैदान

11-खिलाड़ियों की दो टीमें 100 गज लंबी और 53 गज चौड़ी टर्फ या सिंथेटिक मैदान पर खेल खेलती हैं। 10-यार्ड अंतराल पर पूरे क्षेत्र में सफेद रेखाएं, प्रत्येक छोर पर शून्य से शुरू होकर 50-यार्ड रेखा मध्य-क्षेत्र पर चिह्नित होती हैं।

1-यार्ड अंतराल पर छोटे सफेद हैश चिह्न खिलाड़ियों, अधिकारियों और प्रशंसकों को टीम की प्रगति को अधिक सटीक रूप से मापने में मदद करते हैं। प्रत्येक लक्ष्य रेखा से परे एक अंत क्षेत्र 10 गज गहरा है। यहीं से अंक बढ़ते हैं।

प्रत्येक टीम अपने स्वयं के अंतिम क्षेत्र का बचाव करती है। जब आक्रामक टीम, जिसके पास गेंद है, रक्षकों के माध्यम से लड़ सकती है और गेंद को अपने प्रतिद्वंद्वी के अंत क्षेत्र में ले जा सकती है, तो वह अंक अर्जित करती है।

फुटबॉल का समय निर्धारण

एक फुटबॉल खेल के लिए नियमन का समय एक घंटा है, जिसे चार 15 मिनट के क्वार्टर में विभाजित किया गया है। क्वार्टर दो और तीन के बीच हाफटाइम प्रत्येक टीम को रणनीति पर चर्चा करने के लिए ऑफ-फील्ड बुलाने के लिए 12 मिनट का समय देता है।

अन्य Quarters के बीच, टीमों के पास बचाव के अंतिम क्षेत्रों को बदलने के लिए दो मिनट का समय होता है। खेल का प्रत्येक आधा भाग रक्षात्मक टीम के किकऑफ़ के साथ शुरू होता है, गेंद को आक्रामक पक्ष तक पहुंचाता है।

फुटबॉल खेल में नियम

फ़ुटबॉल खेल में कुछ सबसे शक्तिशाली एथलीटों द्वारा खेला जाता है, कभी-कभी 300 पाउंड से ऊपर, जो अक्सर पूरी गति से एक-दूसरे पर खुद को फेंकते हैं। नियमों के बिना, खेल चोटों और अनुचित लाभों का तमाशा बन सकता है।

NFL और NCAA सुरक्षात्मक वर्दी और उपकरण मानकों को विनियमित करने वाले व्यापक और लगातार विकसित होने वाले नियमों को बढ़ावा देते हैं, कानूनी निपटने और अवरुद्ध प्रथाओं, खिलाड़ियों के समान आचरण के मानकों और निष्पक्ष स्कोरिंग।

प्रशंसक तीव्र प्रतिस्पर्धा देखना चाहते हैं लेकिन उन नियमों की सराहना करते हैं जो खेल को निष्पक्ष बनाते हैं और खिलाड़ियों को एक और दिन खेलने के लिए सुरक्षित रखते हैं।

निष्कर्ष

खेल हमारी दिनचर्या का हिस्सा होना चाहिए। मुझे हॉकी खेलना पसंद है और यह मेरे मूड को तरोताजा करने में मदद करता है। भारत में हर साल महान राष्ट्रीय खेल दिवस मनाया जाता है।

असा करते है आपको ये Mera Priya Khel Eassy In Hindi लेख अच्छा लगा होगा। हमें उम्मीद है आप पुरे जसनकारी प्राप्त करलिए होंगे अगर ये लेख अच्छा लगा है तो आपके दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे। अगर कुछ सबाल है तो कमेंट में जरूर पूछे। धन्यवाद

FAQ

  1. Q. विश्व का सबसे पुराना खेल कौन सा है?

    Ans. विश्व का सबसे पुराना खेल मनकाला है।

  2. Q. खेल खेलने से हमारे अंदर कौन से गुण पैदा होते हैं?

    Ans. खेल खेलने से अनुशासन, आत्मविश्वास, टीम वर्क और धैर्य जैसे गुण हममें पैदा होते हैं।

  3. Q. गेम खेलना क्यों जरूरी है?

    Ans. खेल खेलना जरूरी है क्योंकि यह हमारे दिमाग और शरीर को स्वस्थ और फिट रखने में मदद करता है।

  4. Q. भारत में कौन सा खेल सर्वाधिक लोकप्रिय है?

    Ans. भारत में सबसे लोकप्रिय खेल Cricket है।

प्लास्टिक प्रदूषण पर निबंध
समाचार पत्र पर निबंध
मेरा इंटरनेट पर निबंध

4 thoughts on “मेरा प्रिय खेल पर निबंध”

Leave a Comment